Jind Baba sadhna चमत्कारी जींद बाबा की 11 दिन की आसान साधना सभी मनोकामनाए पूर्ण करेगी

Jind Baba sadhna चमत्कारी जींद बाबा की 11 दिन की आसान साधना सभी मनोकामनाए पूर्ण करेगी
Jind Baba sadhna चमत्कारी जींद बाबा की 11 दिन की आसान साधना सभी मनोकामनाए पूर्ण करेगी

Jind Baba sadhna चमत्कारी जींद बाबा की 11 दिन की आसान साधना सभी मनोकामनाए पूर्ण करेगी गुरु मंत्र साधना  में आपका हार्दिक स्वागत है दोस्तों जिन और जिंद  यह दो अलग-अलग चीज होती हैं जिन जो होते हैं। वह अलग होते हैं और जिंद जो है अलग होते हैं दोनों के पास शक्ति जो होती है वो बराबर होती है। फर्क कितना होता है यह महाकाली की सेवा में होते हैं। जिंद जो हैं वह अच्छे कार्यों के लिए ज्यादा प्रयोग किए जाते हैं और अच्छे कार्य को ही करते हैं।

जो कि जिन होते हैं वह गलत कार्य को भी करते हैं गलत कार्य पर चलाए भी जाते हैं। बहन बेटी पर मोहित  होकर उनको दुख भी देते हैं जिंद  में बात करू हैं स्थान देवता से पूजे जाते है  के नाम से पूजा होती और वह बहुत सारे संकटों को दूर भी करते हैं जींद जो होते है  दूर करते हैं इनके राज्सथान बहुत स्थान है। जिंद बाबा होते हैं वह बहुत सारे कार्य को करने में सक्षम होते हैं बहुत सारी आपकी इच्छाओं को पूर्ण करने में सक्षम होते हैं।

तो आज मैं आपको जिद  बाबा की साधना के बारे में बता रहा हूं। जिन बाबा की सेवा के बारे में बता जो कि बहुत सरल साधना है और बहुत ही आसान साधना है। बहुत ही आसान  ना कोई खर्च है ज्यादा ना कोई ध्यान नहीं लगाना है कुछ नहीं करना, मैं आपको बता रहा हूं क्या करना है ना इसमें कोई किसी तरीके डर नहीं  है और बात रही गुरु के तो भगवान शंकर को गुरु मानकर आप इस सेवा को कर सकते हैं। अब भगवान शंकर को किस प्रकार से गुरु बनाया जाता है धरण किया जाता है वह मैं आपको अगली पोस्ट  में बताऊंगा।

Jind Baba sadhna चमत्कारी जींद बाबा  साधना विधि 

तो जब इस साधना को किया जाता है तो यह ग्यारह शुक्रवार  शनिवार को की जातीनी एक हफ्ते में दो शुक्रवार  शनिवार एक  । एक एक हफ्ते में दो शुक्रवार  शनिवार हो गया ना। तो वह एक  माने जाएंगे यानी इस शुक्रवार को शनिवार के ग्यारह जोड़े आपको करने होते हैं। अब करना क्या है इस साधना को। इसमें जो भोग जाता है, आक आपके पेड़ के नीचे भोग जाता है और वह दिन के छिपने से पहले आप सुबह कर  सकते बिल्कुल पाक साफ होकर जाना होता है।

सुनसान  जगह पर आपका पेड़  ढूंढना है आपको और आपके पेड़  जब आपको मिल जाए तो चावल और हल्दी यानी चावलों को हल्दी में रंग ले पानी डाल और उन चावलों को थोड़े से चावल लेकर आपको आपके पेड़ के नीचे जाने हैं। जाना है और वहां पर आपको प्रार्थना करने जिंद बाबा मैं आपको दावात देने आया हूं, यह जिंद बाबा मैं आपको दावत देने आया हूं। स्वीकार करें। कल मैं आपका भोग लेकर आऊंगा।

इतना कहकर आपको आ  जाना और मुड के नहीं देखना पीछे आप शुक्रवार को करते हैं और फिर शनिवार को आपको जो भोग ले जाना होता है। दिन छुपने से पहले दो तो पानी की रोटी होनी  चाहिए पानी की रोटी पानी की रोटी बनाते ना एक तो चकले बनाते हैं पोलथान  वाली रोटी होती

पानी की रोटी हाथों से बनाते हैं दो पानी की रोटी और दो ही हरि मिर्च और दो ही प्याज और दो पानी की बोतल छोटी फिर दो पानी की थैली। यह लेकर जाना होता है

शनिवार को शनिवार को जब जाते हैं दिन  छिपने से पहले दो पानी की रोटी लेकर तो उनके ऊपर एक हरी मिर्च और एक प्याज यह रख लें यानि कि अलग-अलग दो रोटी, दो प्याज हो गई, दो हरी मिर्च हो गई वह सामग्री जो है भोग है उनका यह आपके पेड़  के नीचे रख दे और जिद  बाबा से प्रार्थना करें, जिद  बाबा यह आपका भोग है इसे स्वीकार करें पानी की  थोड़ा सा वहां पर पानी गिर दे।

और जब आप यह  अपना भोग स्वीकार करो, जो भी आपकी इच्छा हो, वह इच्छा आपको वहां पर बोलनी है। यह प्रक्रिया आपको हर शुक्रवार, शनिवार करनी है यानि शुक्र शनिवार ग्यारह जोड़े आपको करनी होती है है, तो आप देखेंगे कि जैसे-जैसे आप आपके सेवा बढ़ती जाएगी तो ग्यारह शुक्रवार, शनिवार से पहले आप जो इच्छा हो जाएगी। यह स्वयं सिद्ध किया हुआ कार्य मैं आपको बता रहा जो मैंने खुद किया था।

तो इसमें ना तो किसी खास उसकी जरूरत की जरूरत ना खास मंत्र जने की जरूरत है, सिर्फ से है। इस से को आप करते हैं तो  ही इच्छा ऐसी होनी चाहिए जो कि लाभ हो, किसी को नुकसानदायक ना हो।

आपके घर की कोई ऐसी बीमारी है जो लंबे समय से चल रही है, ठीक घर में बरकत नहीं हो रही, आपकी नौकरी नहीं लग रही, काम में मन नहीं लगता, यह सारी चीजें जो है, यह सारी चीजों को हल करने के लिए जो  है वह सक्षम है। बहुत सारे राजस्थान के इलाकों में जिद  बाबा की पूजा होती है, इंटरनेट पर भी आपको देखने को मिल जाएगा। वो मैंने आपको बताया।

माँ तारा कैंसर से मुक्ति साधना maa tar

रेकी हीलिंग करने और करवाने के ख़तरे Risks of doing and getting Reiki healing done

sham Kaur Mohini माता श्याम कौर मोहिनी की साधना और इतिहास -ph.85280 57364