बाबा बालक नाथ साधना Baba Balak Nath Sadhna Mantraबाबा बालक नाथ साधना Baba Balak Nath Sadhna Mantra

बाबा बालक नाथ साधना Baba Balak Nath Sadhna Mantra ph.8528057364

 

बाबा बालक नाथ साधना Baba Balak Nath Sadhna Mantra
बाबा बालक नाथ साधना Baba Balak Nath Sadhna Mantra

जय महाकाल बाबा बालक नाथ साधना Baba Balak Nath Sadhna  साधनाओं में  बहुत ज्यादा अच्छी साधना है। तो अब मैं आपको इसमें साधना देने जा रहा हूँ। बाबा बालकनाथ जी के जो बहुत बड़े सिद्ध संत थे, आप अधिकतर देखेंगे पंजाब या हिमाचल में इनकी बहुत ज्यादा मान्यता है।

इनके बहुत सारे भक्त आपको मिल जायेंगे। यहाँ पर इनके बहुत सारे मंदिर भी हैं। पंजाब और यह इनका जो मेन मंदिर है वो दियोटसिद्ध हिमाचल में पड़ता है और इनकी दोस्तों जो साधना है जो आप अगर ऑनलाइन ढूंढेंगे तो अधिकतर आपको चौकी वगैरा की साधना मिलेगी।

चौकी इस मतलब होता है कि उस साधना करने के बाद बाबा जी जो है की शक्ति होती है आपके शरीर में एंटर करेगी और आप को जो लोगों के आपके पास आएंगे उनका निवारण करेंगे। दिक्कतों  तो कारन  लोग जाते दिखाई देते हैं।

उसके अलावा यह पहली बार इस तरह की दूर आपको साधना दूसरे तरीके की मैं आपको दे रहा हूँ। तो दोस्तों इस साधना की सबसे पहले मैं आपको नाम बताता है।

तो दोस्तो इस के लाभ सबसे पहले तो उन लोगों के लिए है जो साधना क्षेत्र से पहले ही जुड़े हुए हैं क्योंकि यह आपकी स्प्रिचुअलिटी का लेवल ऊपर बढ़ाने में या अध्यात्म में आगे बढ़ने में बहुत ज्यादा सहायता करते हैं।

चाहे आप योग मार्ग से हों या तंत्र मार्ग से, दोनो ही मार्ग में ये बहुत ज्यादा सहायक होते हैं। उसके बाद दोस्तों कि जो लोग तंत्र मार्ग, ज्ञान योग मार्ग से नहीं जुड़े हुए, जो नॉर्मल लोग हैं उन लोगों के लिए दोस्तों यह आपकी इच्छा पूर्ति के लिए बहुत ज्यादा सहायता करते हैं चाहे आपके जीवन में किसी भी तरीके की समस्या हो यह बहुत ही तीक्ष्णता से उसको सॉल्व करने में आपकी मदद करते हैं।

तो दोस्तों आपने अधिकतर साधना जो की होगी उनमें देखा होगा कि साधना करने के बाद आपके जीवन में कुछ होने के अपने रस्ते बनने लग जाते हैं। मगर इस साधना की मदद से कितनी भी बड़ी समस्या हो जो भी आपकी समस्या हो उसको जो भी इंसान सुलझा सकता हो उस तरीके के इंसान आपके जीवन में अपने आप खींचकर ले आते हैं और आपके अगर जीवन में किसी धन की समस्या आ रही है ,तो उसको भी बहुत ही आराम से उस तरीके के इंसान लाकर आपकी जो धन की समस्या है वो भी आराम से सुलझा देते हैं।

उसके बाद दोस्तों और इसके अगर आपके ऊपर किसी ने तंत्र वगैरह कर रखा है  आपके परिवार के ऊपर तो आपने ज्यादातर साधना देखी होगी। उसमें क्या होगा उसमें से तंत्र जो हटता होगा मगर सिर्फ हटाते ही नहीं।

जिसने  भी उसको आपके, आपके परिवार को किया होगा, आपके ऊपर कुछ किया होगा, उसको जाकर दंड भी देते हैं और उसके जीवन में परेशानियां भी लानी शुरू कर देते हैं। अगर वह रुकता नहीं है तो। तो दोस्तों इस तरह की बहुत ही साधना है। उसके बाद दोस्तों इसमें जो जाप की संख्या है वह भी बहुत कम है जिसके कारण कोई भी इंसान इसको बहुत ही आराम से कर सकता है।

फिर दोस्तों इसमें इस साधना को करने के बाद हम देखेंगे कि आप पर शिवजी जी की असीम कृपा आने लग जाती है। क्योंकि दोस्तों ये तो बाबा अलखनाथ जी थे। अपने जब जीवित थे तो उस टाइम इन्होंने बहुत सारा शिवजी जी की तपस्या की थी जिस करके शिवजी जी ने अपनी जो शक्तियां थी वो इनमें सीधे ट्रांसफर कर दी थी कि इतने बड़े साधक से साधक सिद्ध।

उसके बाद दोस्तों इसमें यह जो साधना है इसमें जो आप कुछ जब जाप करेंगे तो आपको अलग अलग ही अनुभव होंगे। बहुत तीक्षण अनुभव होंगे तो इसमें बिल्कुल भी आपको डरना नहीं है और अपने साधना में लगे रहना है क्योंकि यह सब परीक्षाएं होती है।

जो तीक्षण साधनाएं होती हैं उनकी। और उसके बाद जब इसका फल आपको मिलता है तो आप के जीवन ही पूरी पूर्णतः बदल जाता है। एक और दोस्तों जानकारी मैं आपको देना चाहूंगा कि इस साधना में जब आप काम लेते हैं तो अधिकतर देखा जाता है कि उनके जो सेवक होते हैं मतलब भूत, प्रेत, पिशाच वगैरह होते हैं।

मगर जो यह बाबा नाथ  हैं, इनके सेवक जो होते हैं वह अधिकतर बहुत बड़े बड़े संत होते हैं। तो इसलिए जो उनकी कार्य क्षमता है वह और ज्यादा तीक्षण और बिल्कुल ही अलग होती है।

जो लोग अपने इस साधना को करने के बाद दुरुपयोग करने की कोशिश करते हैं, उनका अपने आप ही खुद ही नुकसान होना शुरू हो जाता है। मगर जब ऐसी साधनाओं का सही उपयोग किया जाता है तभी उसका जो लाभ होता है वह होता है और आप अगर जो आपकी इच्छाएं होंगी, अगर किसी को नुकसान पहुंचाने की होंगी या जैसे किसी से जलन होकर आप इच्छाएं कर रहे हैं तो इस तरह की साधना है तो ऐसी इच्छाओं की पूर्ति में बिल्कुल भी सहायता नहीं करती।

बल्कि आपके जीवन में जो है समस्या आनी शुरू हो जाएगी क्योंकि आपने इनसे ऐसी अजीब सी अजीब सी इच्छाएं की पूर्ति आपने करनी चाही तो वह आपके जीवन में परीक्षा लेंगे ताकि आपके जीवन में सुधार हो सके। आपको नुकसान इस तरह नहीं।

 आपको थोड़ा समझ देने के लिए आपको थोड़ा आपकी परीक्षा लेंगे। थोड़ी जिंदगी में दिक्कतें क्रिएट करेंगे। फिर उसके बाद आपके जीवन में जो बदलाव आना शुरू हो जाएगा और आप पॉजीटिव जो हो जाएंगे  तो आपको लाभ देना शुरू कर देंगे। तो इस तरह यह साधना होती है वह काम करती है।

बाबा बालक नाथ मंत्र Baba Balak Nath mantra 

 

बालकनाथ बाबा गुफा वालेया तेरी सदा ही जय 
थोडा वालेया तेरी तेरी सदा ही जय 
बालक रिशीया धारी आया शरण तुम्हारी 
जगत गुरु पृथ्वी के धनी
तेरे नाम की ओट
विरध की लाज
नाल हमेती हो तुसी
नाम घुमंडी तुसी हो बनखंडी 
रख बाने की लाज! 

 

बाबा बालक नाथ साधना विधि  Baba Balak Nath Sadhna 

 दोस्तों मैं आपको विधि बताता हूं कि किस तरह करनी है इसमें। दोस्तों जो आसन सफेद  होगा ठीक है वह सफेद होगा। जो आपको दिशा जो है उत्तर रखनी होगी। उसके बाद माला रुद्राक्ष की आपने इस्तेमाल करनी है। भोग में अपने रूप मनाना है।

भोग में देना है  रोट की विधि ऑनलाइन कहीं पर भी ढूंढ सकते हैं।  इनको  रोज़  का भोग जो है वह अपने देना  है और जो दीपक लगेगा वह घी का है। साथ में अपने धूप दीप वगैरह तो जलानी ही है।

उसके बाद दोस्तों जब आपने इस को शुरू करना है उसके बाद आपने सबसे पहले एक माला इनका मंत्र जाप करना है। करने के बाद आपने कोई बर्तन अपने सामने रख लेना है और थोड़ा पानी भी रख लेना है। इनको अपने मानस में इमेजिन करके आपने इस तरह सोचना है और इनको पहले तो आमंत्रित करना है कि आओ  सामने बैठे ।

उसके बाद इनके सबसे पहले अपने पैर धुलाने हैं, उसके बाद अपने पैर धुलाने के बाद अपने जो मतलब अपना जो आगे का मंत्र है वह जाप करने शुरू कर देना है इसमें। दोस्तों इस साधना में आपने 5  का मंत्र जाप करना है कुल पर भी  41  दिनों के अंदर अंदर । 

दोस्तों जो बाबा बालक नाथ जी हैं।  जो जब जीवित थे तब तक वह बालक के ही रूप  में थे तब तो दोस्तों इनका जो साधना परीक्षा होती है वह भी कम बहुत ज्यादा अलग होती है।

एक सबको डराया जाता है मगर साथ के साथ ही आपके जीवन में अलग सी ही परेशानियां जैसे नटखट बालक जो होते हैं परेशानियां खड़ी करते रहते हैं कि कहीं न कहीं फंसा दिया कि जाप ना कर पाए। कुछ ना कर पाए।

मैं यह नहीं कहूंगा कि इतना ज्यादा फैला दिया कि बिल्कुल रोक दिया। मगर थोड़ी बहुत परेशानियां परीक्षा जो है इंसान की भी जाती है ताकि देखने के लिए कि कोई भी इंसान कितना ज्यादा साधना के लिए एकाग्र है और कितना ज्यादा डिमोट है तो उस चीज़ के लिए जो आपकी परीक्षाएं हो जाती है।

अब इसका दोस्त मैं मंत्र है वह आपको मंत्र में पूरा नहीं दूंगा यहां पर क्योंकि मैंने पिछली बार भी मैंने पोस्ट  पर मंत्र नहीं दिया तो लोगों ने मेरे से मंत्र लेकर अपनीपोस्ट बनानी शुरू कर दी। मैंने कुछ में देखा है कोई मंत्र। और दोस्तों और भी मैंने चीजें देखी हैं। जैसे कई में मैंने मंत्र दे दिया तो उसी को कॉपी करके पूरा पेस्टकर दिया।

तो दोस्तों इसमें मैं जो मंत्र है आधा अधूरा दूंगा ताकि अगर कोई आगे कॉपी करेगा तो आप उस मंत्र को देखकर पहचान पाए कि हाँ यह मंत्र यहां से कॉपी किया हुआ है तो मंत्र मैं आपको आधा दे रहा हूं।

 उसकी स्वयं दोस्तों उसमें कुछ है जो मैं मिसिंग छोड़ रहा हूं। उसके बाद बाबा बालक नाथ है। आग आवेश स्वाहा यह मंत्र। दोस्तों इसको आप जब आप करेंगे आपके जीवन में पूर्णतः बदलाव आने लग जाएंगे और आप बहुत ज्यादा पॉजिटिव होंगे और आपके जीवन जो है वह ज्यादा सुख में होता जाएगा।

जब आप अपना जाप कंप्लीट कर लेंगे उसके बाद आपको हवन करना है जिसमें घी, काले तिल, लौंग और काली मिर्च और पीली सरसों इन सबका समान करना है। खासकर जब अपने आपको धन लाभ चाहिए तो पीली सरसों का इस्तेमाल अपने कर नहीं करना वरना आप उसको उस समय के लिए छोड़ भी सकते हैं।

उसको जरूरी नहीं है कि इस्तेमाल किया जाए तो यह चीज। दोस्तों साधना। इसके बाद दोस्तों को इसमें  एक उग्र साधना भी है। इसमें सेकंड पार्ट जो है इसमें वह भी है मगर वह मैं बहुत ही कम। जो खुद अच्छे साधक होंगे उन्हीं को दूंगा। तो यह था पूरा  साधना।  जय श्री महाकाल 

बाबा बालक नाथ जी कौन थे?

बाबा बालकनाथ जी के जो बहुत बड़े सिद्ध संत थे, आप अधिकतर देखेंगे पंजाब या हिमाचल में इनकी बहुत ज्यादा मान्यता है।
इनके बहुत सारे भक्त आपको मिल जायेंगे। यहाँ पर इनके बहुत सारे मंदिर भी हैं। यह शिव के अवतार है

बाबा बालक नाथ किसका अवतार है?

शिव अवतार है बाबा बालकनाथ जी


बाबा बालक नाथ में महिलाओं की अनुमति क्यों नहीं है?

बाबा बालक नाथ जती सती योगी है और बाल ब्रह्मचारी थे। हनुमान की तरह बाबा बालक नाथ में महिलाओं की अनुमति नहीं है

क्या बाबा बालक नाथ और कार्तिकेय एक ही हैं?

क्या बाबा बालक नाथ और कार्तिकेय एक नहीं है दोनों अलग अलग है। बाबा बालक नाथ और कार्तिकेय एक दोनों मोर की सवारी करते है इस लिए लोग भर्मित हो जाते है।

By Rodhar nath

My name is Rudra Nath, I am a Nath Yogi, I have done deep research on Tantra. I have learned this knowledge by living near saints and experienced people. None of my knowledge is bookish, I have learned it by experiencing myself. I have benefited from that knowledge in my life, I want this knowledge to reach the masses.

5 thoughts on “बाबा बालक नाथ साधना Baba Balak Nath Sadhna Mantra ph.8528057364”

Comments are closed.