Veer Bulaki Sadhna - प्राचीन रहस्यमय वीर बुलाकी साधना PH.85280 57364
Veer Bulaki Sadhna - प्राचीन रहस्यमय वीर बुलाकी साधना PH.85280 57364
85 / 100

Table of Contents

Veer Bulaki Sadhna – प्राचीन रहस्यमय वीर बुलाकी साधना PH.85280 57364

    • बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki  का स्वरूप
    • बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki का  सात्विक भोग
    • वीर बुलाकी Veer Bulakiतामसिक भोग
    • बाबा वीर बुलाकी  Veer Bulaki जी का स्थान
    • बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki किस रूप में आते है
    • बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki जी  इस भोग पर चलते है
    • वीर बुलाकी Veer Bulaki साधना विधि
    • </u

Veer Bulaki Sadhna – प्राचीन रहस्यमय वीर बुलाकी साधना PH.85280 57364 गुरु मंत्र साधना में आप का स्वागत है दोस्तों बाबा वीर बुलाकी कोण है कैसे इनका जन्म हुआ कैसी या कितनी बड़ी शक्ति  है इन सब के बारे में बहुत सारी कथाएं बहुत सारे लोगों को जो आपने सुना होगा यूट्यूब पर भी बहुत सारे देखा और सुना होगा

2017 04 03 19 29 06 https://gurumantrasadhna.com/veer-bulaki/

गोगा जाहरवीर के पुत्र के जाते हैं यमुना में बहा दिए गए थे उनके बरून और कई लोग धोने से यह जन्मे है  कई कहानियां कहानियां  है।  मैं  एन के बारे में बताने जा रहा हु  और शायद आपने यह जानकारी कहीं थोड़ी बहुत सुनी होगी और पूरी जानकारी कहीं नहीं सुनी होगी।

तो आज जो मैं आपको बताने जा रहा हूं बाबा वीर बुलाकी के बारे में जो कि आगरा की सच्ची सरकार कहीं जाते हैं। इन का जो स्थान है वह आगरा में है उससे पहले मैं आपको बता दूं कि अगर आपने हमारे वेबसाइट  को सब्सक्राइब नहीं किया। तो सीधे हाथ पर जो बटन उसे दबा दो ताकि हमारी आने वाली जो और जानकारियां है वह भी आपको मिल जाए गा। 

बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki  का स्वरूप

ad

बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki  का स्वरूप तो मैं आपको बता दूं जो बाबा वीर बुलाकी हैं इनके जन्म की तो जो कथाएं हैं वह एक अलग नहीं आए जिसे प्राचीन हम लोग कह सकते हैं।  जो अभी तक किसी के सामने नहीं आई है वही सुनी सुनाई बात है वह चल रही है।  बाबा वीर बुलाकी वह बहुत शक्तिशाली देवता है,बालक का जो स्वरूप है बाबा वीर बुलाकी का पूजा जाता है, उनके एक हाथ में सोटा और एक हाथ में मदिरा है। 

बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki का  सात्विक भोग

बूंदी के लड्डू

 लोंग

बतासे

 

  इनके भाव के लिए बूंदी के लड्डू लोंग बतासे का जो भोग है यह दिया जाता है इस का तामसिक भोग अलग है जिस की जानकारी आगे प्राप्त होगी !

बाबा वीर बुलाकी  Veer Bulaki जी का स्थान

 

बाबा वीर बुलाकी  Veer Bulaki जी का स्थान  बाबा वीर बुलाकी  जी सबसे ज्यादा जमुना माता को  मानते हैं जमुना को अपनी माता मानते हैं।  जमुना जी आगरा तक जाती है और इनके मंदिर  और मठ  जमुना किनारे बनाए जाते है ! इनका सबसे बड़ा स्थान आगरा में ही है ! यह जमुना माता को इतना मानते अगर इनको जमुना माता की आन दी  जाए तो यह वही रुक जाते है। और कमाल खा सयद  इन के मिन्दर के पास कमाल खा सयद की मजार है.  यह उनको अपना गुरु मानते थे ! कमाल खा मसानी माता काली और  श्मशान आग वाणी शक्ति इनके साथ चलती है। 

बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki किस रूप में आते है

बाबा वीर बुलाकीVeer Bulaki किस रूप में आते है- वह बाबा वीर बुलाकी के साथ बाबा वीर बुलाकी बहुत उग्र देवता है जब इनकी सवारी आती है।    तो यह जोर जोर से हाथ हलाते  है। भगत के दिल की धड़कन बहुत बढ़ जाती है जैसे कितने किलोमीटर से दौड़ लगा कर आया हो बाबा वीर बुलाकी जो है वह  उग्र देवता है जब  आते है। तो हाथ जो है यह हाथ जोर जोर से हलती हुए आते है। जब इनकी की सवारी आती है तो अलग ही रूप इनका देखने को मिलता है जो इनकी जो साधना है इनकी जो सेवा है वह 99 परसेंट फलदाई होती है।  अगर आप इसे करते हैं जमुना घाट पर घर के मुकाबले में जायदा  प्रभावशाली है।  आप अगर इसे जमुना घाट की सेवा करते इनका भोग देते हैं तो अति शीघ्र फलदाई होती है। जमुना घाट पर  किया जाता है जमुना जी किनारे इनकी जब पूजा भोग दिया जाता है। 

बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki   जी  इस भोग पर चलते है

बाबा वीर बुलाकी Veer Bulaki   जी  इस भोग पर चलते है बाबा वीर बुलाकी जो है  वाल्मीकि  समाज में के कुल देवता माने जाते हैं देव तो है वह पर वाल्मीकि समाज में यह बहुत सारे लोगों की जो है वह कुल देवता है यह जो है यह  सूर का बच्चा बकरा मुर्गा और दारू इस पर चलते हैं . शक्तियां जो हैं वह कोई बुरी नहीं होती पर जो लोग हैं जो भगत हैं वो उन्हें बुरा बना देते हैं वंदन करके करके उनको कुछ शक्तियां है जो कार्य करने के लिए तत्पर हो जाती हैं पूजा लेकर काम  करते है

 

तो पहले तो मैं आपको एक बात बता दूं बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो बाबा वीर बुलाकी को गालियां उल्टी-सीधी बोलते हैं और भी देवी देवता एक चीज नहीं है दिमाग में रख लेना हम हैं इंसान हम जो हैं वह कर्म बंद है पर शक्तियां कर्म बंद नहीं होती कोई भी कार्य करेंगे तो पाप पूण्य  नहीं लगता !किसी की बात ओ में आकर इनके बारे में कुछ उल्टा मत बोल देना अगर यह बिगड़ जाते  है तो घर को श्मशान बना देते है

गुरमुख होकर जब किसी गुरु के द्वारा पूरे परंपरागत चलते हैं पूरे कुल में चलते रहते तो पीड़ी दर पीड़ी चलते है अगर कुल में कोई भोग नहीं देता तो यह कोई संकेत नहीं देते है भवाल मचाना शुरू कर देते है अगर आपने इनकी पूजा भोग दिया है जाता है तो यह आपकी पीढ़ी को भी पूजे जाते है   वाल्मीकि समाज में सबको पता होता है इसलिए वह सब पूजा करते है   अगर कुल कोई और समाज का व्यक्ति बाबा वीर बुलाकी को लेना चाहता है  तो बहुत सोच समझ कर ले क्योंकि बहुत उग्र शक्ति है बहुत शक्तिशाली शक्ति है उनकी पूजा सेवा टाइम पर नियम जो इनके वह बहुत कड़े होते हैं वह कर करते है तो बाबा वीर बुलाकी जो है वह अति शीघ्र प्रसन्न होने वाले है  

 वीर बुलाकी Veer Bulaki साधना विधि

 वीर बुलाकी Veer Bulaki साधना विधि जैसे मैंने आपको बता दिया उनका स्वरूप जो है वह काला  है शनिवार के दिन माना जाता है। शनिवार के दिन की पूजा की जाए बहुत ज्यादा बहुत जल्दी प्रसन्न  होते मैंने आपको बता दिया कि बाबा बुलाकी कमाल का सैयद और जमुना माता इन तीनों का भोग ज्यादा जमीन की पूजा की जाती है। इनकी जो साधना है वह वैसे 41 दिन की साधना इनकी जब की जाती है।  अगर आप घर पर साधना कर रहे हैं जमुना किनारे भोग देकर आना होता है शनिवार की घर पर आपको जो भी आप ध्यान लगाना है।  फिर मंत्र जाप करना होता है इनकी पूजा में जो चीजें इस्तेमाल होती हैं वह बूंदी का लड्डू बर्फी है दूध है।  अगरबत्ती लोग कपूर सिगरेट शराब की बोतल और छुआरा सामग्री जो है इन के भोग के लिए प्रयुक्त की जाती है यह प्रयोग किया जाती और एक इनका जो है वह दीपक जलाया जाता है।  इनकी जो सेवा है कि जो पूजा है जो इनकी सेवा पूजा करते हैं वह जल्दी कह सकते हैं।  अपनी शक्ति का प्रदर्शन करते हैं जो है और जिन कामो  को करने  के लिए उनकी शक्ति बिल्कुल चुटकी भर से काम करती है।   इनकी साधना में जो है वह लाल और काले कपड़े का प्रयोग किया जाता है और साथ-साथ माला होनी है। वह हकीक की माला जो है वह प्रयोग की जाती है।

मंत्र गोपनीय  है यह गुरु दीक्षा के बाद प्राप्त होगा

 

वीर बुलाकी Veer Bulaki  की सिद्धि के लाभ

वीर बुलाकी Veer Bulaki  की सिद्धि के लाभ  इनका जो भगत है अगर इनका भगत जो है वह किसी के घर में पैर रख देता तो सारी चीजों का अनुभव हो जाता है। और बहुत सारी सारी चीजें जो है वह अपने आप ही घर छोड़कर भाग जाती हैं किसी के घर घर की देवताओं को मानते हैं उस घर की जो देवता है वह पहले खुद ही साइड हो जाते हैं , हर जगह पर ही चले जाते हैं किसी चीज का परहेज नहीं है।  गंदी अच्छी हर जगह पर चले जाते हैं कार्य करते है आप के बड़े से बड़े कम इन की साधना चुटकी में हो जाते है यह बहुत ही तीव्र गति से काम करते है। 

कभी भी अगर कोई करने के लिए सोच मेरा वैसे तो वाल्मीकि समाज में बहुत आसानी से इनकी सेवा पूजा मिल जाती है जैसे यह हुक्का लगाया जाता और जब इनकी सवारी आ जाती है का प्रसाद दिया जाता है यह साधना बिल्कुल किसी को नहीं करनी चाहिए क्योंकि बिना गुरु के बहुत हानिकारक हो सकती है साथ यह साधना साधना ऐसी होती जो बिना गुरु ले  कर सकते बस कुछ साधना ऐसी होती है जो बिना गुरु की करनी ही नहीं चाहिए साधना है बिना गुरु के इस साधना को भी मत करना बहुत अचूक साधना है बहुत कहते हैं कि उग्र साधना है। अगर आप वाल्मीकि समाज से तो आपके लिए कोई बड़ी बात नहीं है। साधना को करना साधना आपको पीढ़ी दर पीढ़ी मिलती है अपने गुरु से मिलती और बात करें। अगर मंत्र की बात करें तो देखो मंत्र जो मैं आपको बताने जा रहा हूं। इनका बहुत ही शक्तिशाली शाबर मंत्र है और देखो बात होती कि कोई भी देवता है ना उसके मंत्र तो सही होते हैं गुरु से के द्वारा जो मिले होते हैं। सिद्ध मंत्र होते वह जो किसी ने नेट पर बात होती है परंतु जो मंत्र होते हैं. वह सही में  नहीं चलते हैं और मंत्र जब जागृत होते हैं। जब आपकी सेवा आपके भक्ति मंत्रों को जागृत करते है.

बोलना चाहूंगा कि बहुत उग्र साधना है बहुत सोच समझकर साधना को करिएगा अगर करना चाहते हैं ,तो और मैं तो आपसे पर यह बोलूंगा कि देखो जानकारी के लिए यह सारी चीजें आपको उपलब्ध होती हैं। आप जानकारी बहुत से लोगों को होती है। जानकारी के किस तरीके कौन देवता क्या है कैसा है। कहां क्या कैसे काम करता है कैसे साधना करना जानकारी लेने में फर्क होता है मैंने बाबा वीर बुलाकी के बारे में थोड़ा सा आपको बता दिया बाकी मेरी कोशिश है कि आपको ज्यादा ज्यादा जानकारी बता सकूं बाकी जैसे मैंने आपको बताया है कि

 

    • 1 बाबा वीर बुलाकी का सात्विक भोग क्या है ?

      बूंदी का लड्डू बर्फी है दूध है अगरबत्ती लोग कपूर सिगरेट शराब की बोतल और छुआरा  बतासे

      २ बाबा वीर बुलाकी  साधना किस रूप में आते है ?

      वह बाबा वीर बुलाकी के साथ बाबा वीर बुलाकी बहुत उग्र देवता है जब इनकी सवारी आती है    तो यह जोर जोर से हाथ हलाते  है भगत के दिल की धड़कन बहुत बढ़ जाती है जैसे कितने किलोमीटर से दौड़ लगा कर आया हो बाबा वीर बुलाकी जो है वह  उग्र देवता है जब  आते है तो हाथ जो है यह हाथ जोर जोर से हलती हुए आते है जब इनकी की सवारी आती है तो अलग ही रूप इनका देखने को मिलता है

      ३ बाबा वीर बुलाकी   के साधना में शीघ्र सिद्धि प्राप्त करने के लिए क्या करना होगा ?

      बाबा वीर बुलाकी  जी की साधना अगर जमुना दे  किनारे पर की जाए तो जल्दी सिद्धि प्राप्त हो सकती है

      4 बाबा वीर बुलाकी   की पूजा किस दिन होती है ?

      बाबा वीर बुलाकी की पूजा शनिवार से होती है इस का भोग शुभ महूरत में होता है जैसे के दीवाली होली पर

      5 वीर बुलाकी Veer Bulaki तामसिक भोग

      बाबा वीर बुलाकी जो है  वाल्मीकि  समाज में के कुल देवता माने जाते हैं देव तो है वह पर वाल्मीकि समाज में यह बहुत सारे लोगों की जो है वह कुल देवता है यह जो है यह  सूर का बच्चा बकरा मुर्गा और दारू इस पर चलते हैं . शक्तियां जो हैं वह कोई बुरी नहीं होती पर जो लोग हैं जो भगत हैं वो उन्हें बुरा बना देते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.