93 / 100

rambha apsara  चेतना  शक्ति क्या होती है 

अब आप लोगो में से कुछ साधक यह नहीं जानते होंगे के चितना शक्ति क्या होती है चेतना का अर्थ है जागृती से आपने आपका अस्तित्व पता होना है चितना अवस्था । अगर मैं सरल भाषा में कहो निंद्रा अवस्था में जागृत रहना चेतना अवस्था है। अगर आप कोइ साधना कर रहे  हो तो आप को फिर भी याद रहेगा   के मैं साधना कर रहा हु मुझे स्वपन में भी यह काम नहीं करना है। चेतना शक्ति पर अलग से वीडियो बना दूंगा आप हमरे चैनल  के साथ जुड़े रहो। तो अप्सर ने रवि के साथ  कुछ दिन बाद फिर से अप्सर ने पीरक्षा ली इस बार वो एक बहुत बड़ी पाहड़ी  पर था और वो पाहडी  बहुत गहरी थी । तो अप्सरा बोली तुम मुझे परिमका रूप में में मानते हो क्या तुम अपनी परमिका की एक इच्छा पूरी करोगे इस का वचन देना होगा तो रवि सोच में पढ़ गया के वचन दू या न दू कुछ समझ में नहीं आ रहा तो रवि सोचा चलो देखा जाएगा जो होगा देखा जाएगा  रवि ने वचन दे दिया  तो अप्सर ने बोलै तुम्हे इस पाहड़ी  से नीचे कुदना होगा । क्या तुम त्यार हो

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.